यदि आपके पास पूरी बुक पढ़ने के लिए समय नहीं है! तो मेरे बुक का एक छोटा सा 10 मिनट का बुक समरी वास्तव में आपको अपने लाइफ में आगे बढ़ने में मदद कर सकता है। ये बुक समरी वास्तव में सरल शब्दों में हैं ताकि आपको बुक के मुख्य प्रिंसिपल को सबसे तेज़ तरीके से समझने में कोई समस्या न हो। यहां सभी बेहतरीन प्रिंसिपल है ! बुक के बारे में जानें और स्पष्ट करें कि आप उस बुक को खरीदना चाहते हैं या नहीं।

Top 5 Success Habit [ Dhirubhai Ambani ] || Dhirubhai Ambani Book

Top 5 Success Habit [Dhirubhai Ambani Book ]

Book Summary - Top 5 Success Habit
Author - Prateeksha M. Tiwari

Hello Dosto 
आज की बुक समरी एक सक्सेसफुल बिज़नेस मैन इंडिया के रिच मैन धीरूभाई अम्बानी पर है उन्होंने अपने लाइफ मे सक्सेस कैसे प्राप्त किया और सभी तरह के दिक्क्तों का  सामान करते हुए  उन्होंने एक अच्छी मुकाम कैसे  प्राप्त किया  जिस फर्मूले का वह यूज़ करके सक्सेसफुल बने है वह उसी फर्मूले को उन्होंने इसी बुक मे बताया है जो आज मे आपके साथ शेयर करुगा

दो लडके थे जो आपस मे बात कर रहे थे एक लड़का कहता है यारे यार मेरा  पढाई मे मन नही लगता है लेकिन मुझे लाइफ मे बहुत सारे पैसे कमाना है  क्या करो सोच रहा हु बिज़नेस रेलेटेड कुछ चीज करू अच्छा बेटा तुझे बिज़नेस करना है और तुझे अम्बानी बनना है यारे पागल सपने कम देख पढाई कर और जॉब कर हर कोई

अम्बानी नही बन सकता है अगर धीरूभाई अम्बानी भी सब लोग की तरह यह बात सोची होती तो आज मे हजारो लोगो की तरह आज मे यह आर्टिकल उन पर नही लिखता सच तो यह धीरूभाई अम्बानी भी आपकी तथा हमारी तरह एक नार्मल लडके थे

जिनका पढाई कभी भी मन नही लगता था इनफैक्ट उन्होने कॉलेज तक नही पढ़ी थी लेकिन फिर भी वह इंडिया के सबसे पॉपुलर अमीर इंसान मे से एक बने जिनकी कंपनी इंडिया की सबसे पॉपुलर कंपनी बनी जो फॉक्स

  स्टार्ट बिज़नेस 5 Technique

500 लिस्ट मे आई जिन्होने अपनी लाइफ More Then 75 बिलियन बिज़नेस अम्पायर बनाया याद रखो 1 बिलियन बराबर 100 करोड़ तो 75 बिलियन बराबर 75000000000 करोड़ का बिज़नेस बनाया वह भी अराउंड 20 साल पहले

                                           
Top 5 Success Habit Dhirubhai Ambani
Success People 

आपको उनसे जलने के बजाय यह Question पूछना चाहिए की उन्होने कैसे यह सब किया कैसे धीरूभाई अम्बानी एक रूम वाले चोल से सब कुछ अचीव कर पाये  वह कौनसी बात थी और वह कौनसी प्रिंसिपल थे जो उन्हे सक्सेसफुल बिज़नेस मेन बना दिया

कुछ लोग जो नेगेटिव सोचते होगे तो वह कहेगे की यारे भाई दो नंबर का धंधा करके सब कुछ हासिल किया होगा अगर आप नेगेटिव मे फोकस करोगे तो जो हर इंसान मे मिल जायेगा अगर आप पॉजिटिव पर फोकस करोगे तो लोगो की अच्छी बातो से सीखोगे और पका खुद भी आगे बढोगे इसीलिए पॉजिटिव पर फोकस करो

और धीरूभाई अम्बानी से कुछ बाते सीखो क्युकी उनसे सिखाने के लिए बहुत कुछ है आज मे उन पर लिखी गई बुक और उनके दवार कुछ सिखाये गए प्रिंसिपल जो आज कुछ लोग सक्सेस है उन Five  लेशन प्रिंसिपल आपके साथ आज मे शेयर करुगा जिसकी वजह से धीरूभाई ने यह सब Possible  करके दिखाए  जिसे हम फॉलो करके हम भी कुछ बड़ कर सकते है  तो Now  So Lets Begin


[1 ] DBBSS - 


इसका फुलफॉर्म बताने से पहले में आपको धीरूभाई अम्बानी की कुछ स्टार्टिंग की कुछ स्टोरी बताना चाहता हु धीरूभाई अम्बानी एक टीचर के बेटे थे जैसा की धीरूभाई अम्बानी का मन पढाई मे नही लगता था जो मे स्टार्टिंग मे बता चुका हु लेकिन इसका यह मतलब नही था की वह लाइफ मे कुछ नही करना चाहते थे इनफैक्ट

  उन्होने अपनी माँ से कहा था की देखना एक दिन मे बहुत पैसा कमाऊंगा उनका घर ठीक -ठीक ही चलता था पैसे की प्रॉब्लम थोड़ी बहुत रहती थी जो धीरूभाई को पसंद नही थी इसीलिए वह हमेसा पैसा कमाने के लिए सोचते थे एक बार वह अपनी पास की होलसेल दुकान से एक डब्बा आयल लिये  और उसे रस्ते पर बैठकर लोगो

 को बेचा वह भी रिटेलर और उन्हें जो फायद हुआ और जाकर अपनी माँ को दिया उन्हें बिज़नेस करने की वैल्यू
बचपन मे ही समझ आ गई थी इसीलिए वह 12 to 13 साल की उम्र मे पकोड़े  बेचने  का बिज़नेस करते थे और अराउंड 17 साल की उम्र में उन्हें यमन कंट्री जाने का ऑफर मिला जहां पर ढेर सारे पैसे कमाने चले गये उन्होने

 आपका जीवन आपके हाथ मे You Can Heal Your Life

 पेट्रोल पंम पर काम किया और भी बहुत से काम किये उन्होने अचानक एक सिचुएशन ऐसी हु की उन्हे इंडिया आना पड़ा जो उनका एक Turing Point  साबित हुआ और वह उन सपनो के पीछे भागने लगे जो वह बचपन मे सोचा करते थे Now आपको इस स्टोरी से क्या सिखना है
             
          D      B     B     S     S
मतलब  Dream    Big    But    Start    Small    ज्यादातर लोगो दो कैटगरी मे आते है जो पहले लोग  कभी बड़ नही सोचते है की जिंदगी जैसी चल रही है वैसी चलाओ जॉब पढाई और कुछ ज्यादा नही लेकिन दूसरी और लोग यह सोचते है की बड़े - बड़े सपने देखते है

 मे यह करुगा वह करुगा मे सब करुगा एक्चुअल मे वह कुछ बड़ा नही कर पते है आपको क्या करना है दोनों मे कोई भी मत बनो आप सिर्फ धीरूभाई अम्बानी जैसा बनो मतलब की आप बड़ा सोचो जितना हो सके

 उतना बड़ा सोचो लेकिन स्टार्ट छोटी से करो  गोल सेट करू और उसे पूरा करू और छोटे लेवल से बिज़नेस स्टार्ट करू और उसे धीरे - धीरे बड़ा करो जिससे आप बिज़नेस करना सिखा जाओगे

[2 ] Skill Over Education  - 

                                       
Top 5 Success Habit Dhirubhai Ambani
                             Skill Over Education
धीरूभाई अम्बानी बिना किसी कॉलेज गए बिना कोई MBA डिग्री लिए एक Billionaire बने क्युकी उन्होने एजुकेशन से ज्यादा अपने Skill पर  फोकस किया और उसे समझा उन्होने एजुकेशन पूरी नही की इसका यह मतलब नही की उन्होने कुछ नही सिखा इनफैक्ट जब वह यमन मे काम कर रहे थे तब उन्होने एक्स्ट्रा एक

और जगह काम करके एकाउंटिंग सिखी शिपस पेपर रेडी करना  इंसोरेस कंपनी से बात करना सिखा जिसके कारण उनकी स्किल काफी अच्छी हो गयी थी जिससे आगे चलकर उन्हेँ बिज़नेस मे बहुत काम भी आये इसीलिए आप आप भी याद रखो की आपके अंदर भी कुछ स्किल का होना कुछ हुनर का होना बहुत ही जरुरी है

बस डिग्री लेकर  तथा बिज़नेस के बारे मे सोचकर आप अमीर नही बन सकते हो वेल स्टार्टिंग मे तो आपके अंदर कुछ हुनर या स्किल होने ही चाहिए जिससे आप यूज़ करके स्टार्टिंग मे पैसे कमा सको रिसेंटली मे एप्पल के CEO टीम कुक का इंटरव्यू देखा उन्होने ने मीत को क्लियर किया की वह चाइना मे अपना प्रोडक्ट इसीलिए

 नही बनाते क्युकी वह के लोग सस्ते मे काम करते है लेकिन ऐसा नही है बल्कि सस्ता लेबर तो बहुत पहले से ही खत्म होने लगा है बल्कि वह उनकी जैसे बड़े बड़े कंपनी चैनल्स के काम करवाती है क्युकी उन लोगो  की स्किल बहुत अच्छी होती है क्युकी चानीस लोगो मे हुनर है और वह कम  टाइम मे अच्छा क्वालिटी का

आउटपुट देते है इसीलिए हमे भी चाइना जैसा तथा अम्बानी जैसा बनना है तो जरुरी है की हम एक हुनर वाले बने काम चलाऊ वाले नही बल्कि बेस्ट वाले हुनर बने जो भी काम करे वह भी बेस्ट

[3 ] Quality Rules  - 

                                         
बहुत से लोग आपको मिल जायेगे जो आपको बतायेगे की धीरूभाई अम्बानी गलत काम करके बड़े हुए क्युकी उनकी Success  तो उनके प्रोडक्ट क्वालिटी का बहुत बड़ा रीजन था धीरूभाई हमेसा प्रोडक्ट क्वालिटी पर बहुत ध्यान देते थे 500 रुपये के साथ जब वह यमन कंट्री से लैटे थे तब उन्होने मसलो का बिज़नेस शुरू किया

वह low क्वालिटी का प्रोडक्ट बेच कर पैसे कमा सकते थे लेकिन नही उनका मोटिव था प्रॉफिट हाई क्वालिटी हाई वॉल्यूम अच्छी क्वालिटी मे ज्यादा बेचना कम हो तो तभी भी चलेगा यही पोलिस के साथ गल्फ कंट्री मे भी अपने मसाले बेचने लगे सब उस चीज को  खरीदते थे क्युकी उनकी क्वालिटी अच्छी  होती थी

जब वह मसाले के बिज़नेस से हटकर यान के बिज़नेस मे आय तो तब भी वह क्वालिटी पर ध्यान देते हुआ विमल ब्रांड बनाया जो एक पॉपुलर हुआ ज्यादातर लोग क्या करते है कैसे भी करके एक बड़ी सी डिग्री अचीव करने को सोचते है  इंजीनियर तथा डॉक्टर बनने को सोचते है कैसे भी करके बिज़नेस करके लोगो को उल्लू

बनाकर पैसे कमना को सोचते है और अपनी स्किल तथा क्वालिटी पर ध्यान नही देते लेकिन यह अप्रोच बहुत गलत है आज आप देख सकते हो डिग्री की कोई वैल्यू नही है इसीलिए आपको अमीर बनना है तो आपकी प्रोडक्ट की क्वालिटी बेस्ट होनी चाहिए

[4 ] Beating Problems  

                                 
Top 5 Success Habit Dhirubhai Ambani

                                 Beating Problems 

धीरूभाई अपनी खुद की मील खुलने जा रहे थे ही तभी उन्हें काफी प्रॉब्लम फेस करनी पड़ी थी जैसे 1996 मे उनकी पार्टनर शिप टूट गई फिर वह अकेले ही फैक्टरी खुल रहे थे जिससे वह हर हप्ते मुंबई To अहमदबाद आते थे प्रॉब्लम सॉल्व करने के लिए तभी 1966 रुपये की वैल्यू बहुत गिराने लगी जिसके कारण उनका खर्च और भी

ज्यादा बढ़ गया लेकिन स्टील बिना हर माने उस मील को खोला और कपडे बनाना  स्टार्ट कर दिया
अब तो कपडे बन तो रहे थे लेकिन कोई होलसेल खरीद नही रहा था क्युकी पहले से ही जो बिज़नेस कर रहे थे वह लोग होलसेलर को मना कर दिया था की धीरूभाई के कपडे खरीदने से और जो एक बड़ी प्रॉब्लम थी फिर

धीरूभाई ने क्या किया की वह से चले गए बड़े लोगो के पावर से नही खुद रस्ते पर आये और खुद ही रिटेलर को दुकान - दुकान पर  जाकर कपडे बेचने लगे क्युकी उनकी क्वालिटी इतनी अच्छी थी की वह सबको पसंद आने लगे ऐसे ही विमल का नाम ऊपर आने लगा


  • धीरूभाई हमेसा प्रोब्लेम से लड़ते थे बल्कि लोगो से ही नही नेचर से भी एक बार उनकी कंपनी को भूकम से लड़ना पड़ा
  • 1986 मे उन्हें परलैटिक स्ट्रोक आ गया था लेकिन स्टील उससे भी वह लड़े और  रिलायंस को इंडिया का biggest बिज़नेस हाउस बनाया
  • यह सब बताना का रीजन है की ज्यादातर लोग हर मान जाते है अपनी लाइफ मे आंधी तूफान छोड़कर छोटे मोटे प्रोब्लेम से ही हर मान जाते है
  • लेकिन धीरूभाई ऐसे नही थे और आपको भी ऐसा नही करना चाहिए कितनी भी प्रोब्लेम हो लाइफ मे आपको हमेसा अपने गोल्स को याद रखना चाहिए और उसे पूरा करके ही दिखाना चाहिए कुछ भी हो

[5 ] Dream Big Fast Ahead   -

                               
Top 5 Success Habit Dhirubhai Ambani

                              Dream Big Fast Ahead

 मसाले के बिज़नेस में धीरूभाई अम्बानी को प्रोफिट हो रहा था लेकिन स्टील दूसरे बिज़नेस भी स्टार्ट किये  क्युकी वह हमेसा बड़ा करने को सोचते थे और जल्दी सोचते थे और फ्यूचर का सोचते थे इसीलिए उन्हें

टेक्सटाइल मे ज्यादा स्कोप दिखा  इसीलिए वह आये फिर उसे हिट करके पेट्रोल लाइन मे गए फिर उसके बाद कम्युनिकेशन मे आये और रिलायंस गैस इत्यादि चीजे को करी उन्होंने हर फील्ड Success बनाई

Example - धीरूभाई 1977 मे IPO लंच किया क्युकी उन्हें पता था की पैसे से बहुत बड़ा बिज़नेस क्रीट नही कर सकते है इसीलिए उन्होंने अपनी कंपनी के शेयर बेचने शुरू कर दिए जब वह यह कर रहे थे तब उनके पास 58000 लोग आये शेयर खरीदने के लिए जो अपने मे एक बहुत बड़ा रिकॉड था इन सब results यह निकला की

 रिलायंस कंपनी का total 3% इंडिया की GDP थी और 5% एक्सपोर्ट तथा 10% Indirect Revenue रिलायंस से आती थी ऐसा बहुत लोग के साथ होता है वह आईडिया सोचते है बिज़नेस से रेलेटेड लेकिन कभी उस पर एक्शन नही लेते है और कुछ टाइम के बाद देखते है

 की उनका ही आईडिया कोई और इम्प्लीमेंट करके बहुत आगे निकल गया है Now ऐसा इसीलिए है क्युकी ज्यादातर लोग स्लो है एक्शन लेने मे लेकिन आप ऐसा मत बनो आप एक्शन लो जल्दी सोचो और फ्यूचर का सोचो और एक्शन लो उसे अगर अम्बानी जैसा अमीर बनना चाहते हो तो उन्हें याद रखते हु

जो इंसान सपनो को देख सकता है वह उसे पूरा भी कर सकता है
Only When You Can Dream Then Only You Can Do It

यह बाते मैने आपको इस बुक Dhirubhai Ambani से बताई है जो निचे लिंक पर क्लिक करके आप खरीद सकते है इसे शेयर करे इस आर्टिकल को उस इंसान के साथ जो सपने देखता है या बिज़नेस लाइन मे है

Request निवेदन : दोस्तों आपको यह आर्टिकल्स कैसा लगा वह आप हमें comment  करके जरूर बताया प्लीज  इस ब्लॉग पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद आशा है की आपको यह जानकारी लाभदायक लगी होगी यदि लगी हो तो प्लीज शेयर कीजिए और हमे subscribe करना मत भूलिये


Please keep supporting
do like comment and Share


Extra Knowledge 

    ----Thanku ---

Share:

0 comments:

Post a Comment

Author

Author

About

Article By Aarti Maurya नमस्कार, मैं आरती ebook summary की Author हूँ आप सभी के सहयोग से मेरा यह blog, अच्छे से चल रही है इस ब्लॉग मे बुक समरी से रेलेटेड आर्टिकल्स पोस्ट किये जाते जो आपके लिए एक हेल्पफुल आर्टिकल्स होते है अगर आपको उपर के आर्टिकल्स हेल्पफुल लगे है तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे इसी तरह अपना सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाती रहूँगी!

Featured Post

How to make the right decisions in life in Hindi

Search This Blog

Follow by Email