यदि आपके पास पूरी बुक पढ़ने के लिए समय नहीं है! तो मेरे बुक का एक छोटा सा 10 मिनट का बुक समरी वास्तव में आपको अपने लाइफ में आगे बढ़ने में मदद कर सकता है। ये बुक समरी वास्तव में सरल शब्दों में हैं ताकि आपको बुक के मुख्य प्रिंसिपल को सबसे तेज़ तरीके से समझने में कोई समस्या न हो। यहां सभी बेहतरीन प्रिंसिपल है ! बुक के बारे में जानें और स्पष्ट करें कि आप उस बुक को खरीदना चाहते हैं या नहीं।

How to make the right decisions in life in Hindi

जिंदगी में सही फैसले कैसे ले ?

Book Summary - The Decision book 
Author -  Mikael Krogerus
How to make the right decisions in life in Hindi

हेलो दोस्तों -
आज की जो बुक समरी है The Decision book से ली गई है ! इसके ऑथर Mikael Krogerus है इस बुक में बताया गया है कि आप अपने लाइफ के सभी decision सही तरह से ले !
क्योकि आपकी पूरी जिंदगी एक प्रोडक्ट है ! उन सभी छोटे - बड़े डिसीजन के जो आपने अपने लाइफ में लिए हो , या आगे जो लोगे! मतलब की राइट नाउ - कि फ्यूचर में आप कितने सक्सेसफुल होंगे या आपकी जिंदगी कितनी अच्छी होगी या कितनी बुरी होगी !  कितने सपने सच होंगे और कितने सपने सच नहीं होंगे यह सब डिसाइड करता है ! आपके डिसीजन पर इसीलिए बहुत जरुरी है,  कि हम अपने लाइफ में सही डिसीजन ले ताकि हमें वह सब मिल सके जिसके बारे हम सोचते है , सपने देखते है ! इसीलिए आज में आपके सामने एक ऐसी बुक समरी लाया हूँ जिसके कुछ टेक्निक आपके साथ शेयर करुँगा जिसे आप सीख कर अपने लाइफ के सभी डिसीजन सही तरह से ले सकेंगे so Lets Begin -

The Decision book summary in hindi
Author - Mikael Krogerus

Maslows Pyramid  - मास्लो का पिरामिड  -

हम सबके के दिमाक में एक सवाल होता है ! की कौनसी ऐसी चीज है , जो हमें बहुत ज्यादा खुश करेगी , हम किसी भी काम को सही तरीके से कर सकेंगे ! इस चीज को एक्सप्लेन करने के लिए अब्राहम मस्लोव ( Abraham Maslow उस वक्त के सबसे जीनियस लोगो की स्टडी करके यह थ्योरी दी थी ! उसमे Include थे , अल्बर्ट आइंस्टीन, एलेन ईयर रोज बैंड अगर हमें मोस्ट हैप्पीनेस में पहुँचना है ! तो सबसे पहले हमें चार स्टेजेस पर करनी होगी ! यानि की चार ह्यूमन नीड को सर्टिफाइड करना होगा। जिसमे सबसे पहली नीड्स आती है !

स्टेज 1 :- Physiological नीड्स जैसे -  की खाना ,पीना , सोना जब हमारा पेट भरा है, हमें प्यास नहीं लग रही है हमने पूरी नींद ली है , सिर्फ तभी हम स्टेज टू (2 ) में पहुँच सकते है !

स्टेज 2 :-  है सेफ्टी हम खुद को सेव फील करवाने के लिए पैसे कमाते है ! घर बनाते है , नये - नये रिसोर्स इकट्ठा करते है , ताकि इमोशनली फिजिकली  हम अपने आप को सेव फील करवा सके ! जिस वक्त हम फिजिकली संतुष्ट है , सेव महसूस कर रहे तभी हम स्टेज 3 में पहुँच सकते है !

स्टेज 3 :- है  love and Belonging  इस स्टेज में हमें दोस्त चाहिए , फॅमिली चाहिए ,प्यार चाहिए, हम ग्रुप  का हिस्सा बनना चाहते है ! और हम सोसाइटी का एक हिस्सा बनना चाहते है ! अगर हमें सोसाइटी एक्सपेक्ट नहीं कर रही है , तो इस नीड्स को पूरा करने के लिए हम एक टेररिस्ट तक बन सकते है , लेकिन हमारी यह नीड्स तभी पूरा होगी ! जब हमारे पिछले दो नीड्स पूरे हो !

Example - 
सोचे की आप बहुत भूखे हो ! और आप घर आते हो , तो आप सबसे पहले अपने स्टेज 1 की नीड्स को पूरा करेंगे किचन में जायेगे और खाना खायेगे और जब आपका पेट भर जाता है ! और तब आपको प्यास नही लग रही है , सिर्फ तभी आप अपने फॅमिली के साथ या अपने फ्रेंड्स के साथ बाते करेंगे , जब आपकी यह तीनो नीड्स पूरी हो जाती है ! तब आप आते है , 4 नंबर स्टेज में

स्टेज 4 :- है ! Stage of Significance -  इस स्टेज में आपको इम्पोर्टेन्ट चाहिए अपने दोस्तों से या अपने फॅमिली से आप उन्हें दिखाना चाहते है ! कि आप उनसे कुछ different है , अपनी इस नीड्स को पूरा करने के लिए एक पैसे वाला आदमी एक महॅगी कार खरीद लेगा , एक बड़ा घर खरीद लेगा ! जिसके पास दिमाक है वह अपने नीड्स को पूरा करने के लिए एक बुक लिख देगा ! या एक नई इनोवेशन कर देगा , अपने नीड्स को पूरा करने के लिए नील आर्मस्ट्रांग चंद्रमा पर चलेंगे।  इसी नीड्स को पूरा करने के लिए लोग गन तक उठा लेते है. क्योकि जिस वक्त लोग आपके सर पर गन रखते है , उस वक्त में आपके नजरो में सबसे ज्यादा सिग्नीफिकेंट हो जाता है ! आपको उसकी हर बात माननी पड़ेगी उस वक्त टेररिस्ट की यह नीड्स पूरा हो जाता है ! जब आप अपने चारो नीड्स को पूरी कर लेते है , तब आप पहुंचते है , 5 नंबर स्टेज में !

स्टेज 5 :- है Self Actualization  - यह पर आप रेलक्स है ! सबसे ज्यादा खुश है , और एक्सट्रीम क्रिएटिव स्टेज में है , इस स्टेज में पहुंचने के बाद वही इंसान खुश होगा , जो उस काम को कर रहा है जिसके लिए वह पैदा हुआ है ! जैसे - सिंगर अपना गाना बना रहा है , एक डेंसर अपना एक डांस कर रहा है ! एक साइंटिस्ट अपना रिसर्च कर रहा है। अगर इस स्टेज में पहुचंने के बाद अगर आप किसी और चीज को कर रहे हो ! तो आप आपने अंदर से एक खोललापन पाओगे तो सवाल यह आता है ! कि हम इस पिरामिड को रियल लाइफ में कहा यूज़ कर सकते है , इस पिरामिड को फॉलो करने के लिए परफेक्ट एक्साम्प्ले है - Google वह अपने employess की चारो के चारो नीड्स को पूरा करता है !

स्टेज 1 - की नीड्स को पूरा करने के लिए वह अपने कैंपस उन्हें फ्री में खाना देता है ! उन्हें सेव फील करवाने के लिए वह उन्हें हाई सैलरी देते है , घर देता है , कार देता है , स्टेज 3 की नीड्स को पूरा करने के लिए उन्हें अपने ग्रुप में पूरा करता है।  तरह - तरह के आर्गेनाइजेशन करवाता है , गूगल एक बहुत बड़ा ब्रांड है।  क्योकि उनके सभी Employess की सिग्नीफिकेन्स की नीड्स हमेशा पूरी रहती है ! इसीलिए वह अपना मैक्सिमम टाइम स्टेज 5 में गुजारते है , क्योकि उनकी चारो नीड्स पूरे है! इसीलिए उनके Employess बेस्ट काम करते है, इसीलिए गूगल नंबर 1 वेबसाइट है !

Swiss Cheese Model  -

क्या आप जानते है कि USA में लोगो के मरने का 5 वा सबसे बड़ा रीजन क्या है ! वह मेडिकल error यानि डॉक्टर की गलती वहा पर हर साल डॉक्टरों की गलतियों से 1 से 2 लाख लोग मरते है।  अब सुनने में यह लगता है कि यह इतनी ज्यादा डेथ है , जितनी डेथ होगी जितनी हर रोज एक एयरप्लेन के क्रैश होने से उसमे सारे लोगो की डेथ हो जाये !अगर हम इसे दूसरे तरीके से देखे तो आप एक डॉक्टर के पास इलाज करने जाते है ! तो आपके मरने के चांस उतनी ही है ! जितनी की आप 36000 सालो तक हर रोज एक प्लेन में ट्रेवल करते हो ! एक कॉमन गलती एक डॉक्टर से होती है , वह है , विनक्रेस्टिंग ड्रग्स विनक्रेस्टिंग एक तरह की दवा है यह तब दिया जाता है जब किसी को कैंसर हो इसे सुई के माध्मय से शरीर में इंजेकेट किया जाता है ! लेकिन पूरी दुनिया में बहुत बार डॉक्टर इसे  Intrathecal  में इंजेकेट कर देते है।  जिसकी वजह से पेशेंट की डेथ हो जाती है।  मेडिकल में यह बहुत कॉमन मिस्टेक है , रिपिडेड मिस्टेक है अगर आप थोड़ी रिसर्च करे तो आपको जरूर इसके बारे में पता चलेगा !

Chasm - The Defussion Model  -

यहा लोग कहते है ! कि अपना प्रोडक्ट लोगो को बेचना है ! तो आपको 5 different सोच वालो के साथ डील करना पड़ेगा ! यह 5 तरह के लोग है ,

  1. Innovators
  2. Early Adopters
  3. Early Majority
  4. Late Majority
  5. Laggards

जब भी आप अपना प्रोडक्ट मार्केट में लंच करते है ! तो उसे सबसे पहले Innovators इन्नोवेटर्स तथा Early Adopters अर्ली अडोप्टर्स खरीदते है ! यह वह लोग है जिन्हे कुछ लेना देना नहीं है।  आपका प्रोडक्ट मार्केट में सक्सेसफुल होता भी है या नहीं उन्हें आपके मिशन से लेना देना है।  यह लोग रिस्क लोग है , और अपने फिलिंग के बेसिस पर यह डिसीजन लेते है।  यह उसी तरह के लोग है ! iphone का मॉडल रिलीज होने पर 6 - 6 घंटे दुकान खुलने का वेट करते है ! क्योकि इन्हे प्रोडक्ट सबसे पहले चाहिए !

Early Majority तथा Late Majority के लोग पहले यह देखना चाहते है।  कि जो भी वह प्रोडक्ट खरीदने वाले है , क्या वह मार्केट में उसकी वैल्यू है , या नहीं क्या उसमे अच्छे फीचर है या नहीं क्या उसमे कोई खराबी तो नही है ! यह लोग अपना डिसीजन लैजिक के बेस पर लेते है।  ना कि इमोशन के बेस पर

Laggards वह लोग है ! जो टेक्नोलॉजी प्रोडक्ट सबसे लास्ट में लेते है , यह ऐसे लोग है।  जिन्हे मोबाइल फ़ोन सिर्फ इसीलिए ख़रीदा क्योकि लैंडलाइन बंद हो गए थे ! और इसीलिए हम इंटरप्रेन्योर इन पर फोकस भी नही करते अगर आपको अपने प्रोडक्ट को मार्केट में बेचना है तो आपको Early Majority तथा Late Majority  के लोग पर फोकस करना पड़ेगा।  क्योकि इन दोनों को मिलकर आप 70 % मार्केट को कैप्चर कर सकते है , Early Adopters तथा Early Majority वाले लोगो के सोच के बीच differentes को Chasm कहा जाता है ! कोई भी  इंटरप्रेन्योर तथा बिज़नेस मैन जिसे अपना प्रोडक्ट मार्केट में बेचना है , तो उन्हें Chasm क्रॉस करना पड़ेगा इसीलिए एक ऑथर ने इस पर एक बुक भी लिखी है।  Crossing The Chasm 

इसीलिए सवाल यह आता है कि chasm को क्रॉस कैसे किया जाये इसीलिए एक ही solution है Market Segmentation प्रिंसिपल कहता है ! की सबसे पहले आप अपने प्रोडक्ट किसी एक लोग के प्रॉब्लम को सॉल्व के लिए बनाते है।  और उस मार्केट को डोमिनेट कर देते है , और उसी प्रोडक्ट में एक नया फीचर ऐड करते है।   जिससे एक और ग्रुप की प्रॉब्लम को सॉल्व किया जाता है , और धीरे - धीरे अपने पूरी मार्केट को डोमिनेट कर देते है !

For Example - 
अमेज़न ने भी Market Segmentation का यूज़ करके इतनी बड़ी ई कॉमर्स कंपनी बन गई है ! उसने सबसे पहले अपने वेबसाइट में बुक लंच की जब उसने बुक के मार्केट को डोमिनेट कर दिया ! तब उसके बाद उसने सीडी , डीवीडी एक - एक करके सभी प्रोडक्ट कपडे इत्यादि चीजे बेचना शुरू कर दिया उसने पूरे रिटेल मार्केट को डोमिनेट कर दिया !
you can heal your life book summary in Hindi

Scamper  -

हम सब के दिमाक में एक सवाल आता है।  कि हम नया - नया आइडियाज कैसे लाए इनोवेटिव कैसे करे ऑथर कहते है ! कि कोई भी आईडिया नया नही होता है ! हमारे पास एक ऐसे मैथड्स है जो पुराने आइडियाज में कुछ बदलाव करके उसे नये आइडियाज तथा इनोवेटिव में लाते है। और यह मैथड्स स्कम्पेर ( Scamper ) है. Scamper में S से रिप्रजेंट होता है।

S - Subsitute 

यह आईडिया कहता है , कि अगर आप कोई old प्रोडक्ट ले और उसके कुछ पार्ट्स अपने नये आईडिया के साथ ही या नये टेक्नोलॉजी के साथ Replace कर देते है ! तो आप एक नया इनोवेटिव प्रोडक्ट मार्केट में ला सकते है , इसका परफेक्ट एक्साम्प्ले है।  टेस्ला कार जिसने पेट्रोल के कार के अंदर के इंजन को इलेक्ट्रिक मोटर के साथ Replace कर दिया और एक नये प्रोडक्ट की इनोवेशन कर दी ! 

C - Combin 

यह प्रिंसिपल कहते है की आप दो Existing Technology  + Existing Technology को कंबाइंड कर देते है ! तो आप एक नया प्रोडक्ट मार्केट में ला सकते है Camera Phone इसी प्रोडक्ट का एक्साम्प्ले है।  पहले के फ़ोन में कीपैड वाले फ़ोन हुआ करते थे ! और कैमरा की एक अगल ही एक मार्केट थी ! लेकिन बाद में Camera phone की इनोवेशन हुई जिससे पूरी इंडस्ट्री चेंज हो गई !

A - Adapt  

यह प्रिंसिपल कहता है ! कि आप अपने प्रोडक्ट को मार्केट कि requirement के अनुसार चेंज करते रहे इसका परफेक्ट एक्साम्प्ले - फेसबुक  पहले फेसबुक स्टार्टिंग में लैपटॉप के लिए लंच हुआ था ! और उसमे फेसबुक के वेबसाइट को अगर आप अपने मोबाइल में खोलते तो यूजर को उसे यूज़ करने में बहुत दिक्क्त होती लेकिन जैसे - जैसे मोबाइल के यूजर बढ़ते गए फेसबुक ने अपने आपको चेंज के according Adapt किया और मोबाइल के लिया एक नया वर्जन निकला और इस चेंज की वजह से बहुत ज्यादा यूजर टाइम गुजरने लगे फेसबुक पर नेक्स्ट आता है !

M  - Modify  

यह आईडिया कहता है ! कि आप अपने Existing प्रोडक्ट में और फीचर ऐड करते रहे और उसे better बनाते रहे इसका सबसे अच्छा एक्साम्प्ले  - व्हाट्सप्प  व्हाट्सअप स्टार्टिंग में सिर्फ Text Messages के लिया था !  लेकिन अब उसमे बहुत सारे फीचर ऐड हो गए है ! जैसे  - कि वीडियो कॉल , वॉइस कॉल इत्यादि !

P - Put Another use  

यह प्रिंसिपल कहता है ! कि आप सेम टेक्नोलॉजी को different - different जगह यूज़ करने के आइडियाज की खोज करो for Example  - अगर आपके पास एक हीटर है ! अगर आप उस हीटर के डिजाइन को चेंज करके और उसे पानी में डाल देते है ! तो वह एक पानी गर्म करना एलिमेंट बना सकता है ! इसी तरह बहुत ऐसी चीजे जिसे आप Put Another Use कर सकते है !

E - Elimnate  

यह प्रिंसिपल कहता है ! की आप अपने प्रोडक्ट के useless फीचर को Eliminate कर सकते है ! जैसे की पहले समर्टफोने में नीचे होम का बटन होता था , लेकिन आजकल स्क्रीन को बड़ा करने के लिए उस बटन को एलिमिनेट कर दिया गया है !

R - Rearrange  

यह प्रिंसिपल कहता है ! कि आप Existing प्रोडक्ट के फीचर को Rearrange करके एक नया प्रोडक्ट बना सकते है ! इसका परफेक्ट एक्साम्प्ले  - आजकल के फ्रिज में फ्रीजर को टॉप में रखने के बजाय बॉटम में रख रहे है ! इनके लिए यही इनोवेशन है !

यह बाते मैंने आपको Mikael Krogerus की बुक The Decision book से बताई है अगर आपको इसके और भी प्रिंसिपल को जानना है तो नीचे लिंक पर क्लिक करके पढ़ सकते है ! thanks for reading 
बुक

Also Read -


Note -  आपको How to make the right decisions in life कैसी लगी वह आप हमें कमेंट करके जरूर बताये अगर दी गयी जानकारी में कुछ गलत लगे ! तो आप हमे तुरंत कमेंट तथा ईमेल करें, अगर आपका कोई मन पसंद बुक समरी या इंडिया के प्रति कुछ जानना है तो आप हमें कमेंट करके जरूर बताये ! इस ब्लॉग पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद आशा है की आपको यह जानकारी लाभदायक लगी होगी यदि लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे प्लीज शेयर और हमे subscribe करना मत भूलिये !


Extra Knowledge 

ग्रेट पीपल की बायोग्राफी

---Thanks for Reading ----

Share:

0 comments:

Post a Comment

Author

Author

About

Article By Aarti Maurya नमस्कार, मैं आरती ebook summary की Author हूँ आप सभी के सहयोग से मेरा यह blog, अच्छे से चल रही है इस ब्लॉग मे बुक समरी से रेलेटेड आर्टिकल्स पोस्ट किये जाते जो आपके लिए एक हेल्पफुल आर्टिकल्स होते है अगर आपको उपर के आर्टिकल्स हेल्पफुल लगे है तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे इसी तरह अपना सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाती रहूँगी!

Featured Post

How to make the right decisions in life in Hindi

Search This Blog

Follow by Email